बुलन्दशहर

गणमान्य लोगों की सभा में सफाई कर्मचारियों से काम पर लौटने की अपील

सभा में विक्की की मां सरोज ने मांगा इंसाफ दोषियों को सज़ा की मांग,  इंसाफ मिलने तक हड़ताल रहेगी जारी

औरंगाबाद( बुलंदशहर ) हरिजन युवक विक्की की असामायिक मौत का मामला अब तूल पकड़ने लगा है। पुलिस द्वारा कराए गए पोस्ट मार्टम में मौत का कारण स्पष्ट नहीं होने से मामला काफी उलझ गया है। पुलिस ने मृतक का बिसरा जांच हेतु भेजा है। उधर गुरुवार को सफाई कर्मचारी हड़ताल पर चले गए और जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन कर उच्चाधिकारियों से इंसाफ की गुहार लगाई।

शुक्रवार को चेयरमैन सलमा कुरैशी ने अनेक गणमान्य लोगों के साथ मृतक विक्की के आवास पर एक सभा कर सफाई कर्मचारियों से काम पर लौटने की अपील करते हुए उन्हें मनाने का असफल प्रयास किया। मृतक की मां सरोज देवी का कहना था कि मेरा बेटा मेरी बीमारी के चलते एवजी में नगर पंचायत में सफाई का काम करता था। ईद पर कुर्बानी के पश्चात पशुओं के कटान,अवशेष उठाने के काम पर उसे जबरन लगा दिया गया जबकि वह सोमवार और मंगलवार को उपवास रखता था और पोत उठाने की स्थिति में नहीं था। नगर पंचायत अध्यक्षा, अधिशासी अधिकारी आदि से भी उसने इस काम पर नहीं लगाने की गुहार लगाई लेकिन किसी ने उसकी एक नहीं सुनी और जबरन उस काम पर लगाया जिससे उसकी तबीयत बिगड़ी और दोषी कर्मचारियों ने बिना उसका उपचार कराये घर भेज दिया जिससे वह अकाल मृत्यु का शिकार हो गया। सरोज देवी ने साफ़ साफ़ कहा कि दोषियों को जेल की सज़ा मिलनी चाहिए । सभा में अधिशासी अधिकारी सेवा राम राजभर ने मुआवजा दिलाने, और अन्य आर्थिक सहायता दिलाने का भरोसा दिलाया लेकिन सफाई कर्मचारियों ने इंसाफ बिना मिले काम पर लौटने से साफ़ इंकार कर दिया। इस अवसर पर सलमा कुरैशी के अलावा उनके पिता अब्दुल्ला कुरैशी,सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष सैयद हिमायत अली सैयद हुसैन अली अधिशासी अधिकारी सेवा राम राजभर सैयद मोदी गुड्डू, पूर्व सभासद नसीर पहलवान सूरजभान चंद्र भान, पप्पू सैक्रेटरी, सुभाष जयसिंह नरेश दीवान सिंह वीर सिंह कलुआ सहित सैंकड़ों स्त्री पुरुष मौजूद रहे। गतिरोध बना हुआ है।

रिपोर्टर राजेंद्र अग्रवाल

Related Articles

Back to top button