ग्रेटर नोएडा

गलगोटिया विश्वविद्यालय और राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली ने एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करके रणनीतिक साझेदारी की

ग्रेटर नोएडा:गलगोटिया विश्वविद्यालय और राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली ने एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करके रणनीतिक साझेदारी की इस महत्वपूर्ण रणनीतिक साझेदारी के समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर करने से दोनों संस्थानों के लिए आगे बढ़ने के लिये बहुत ही महत्वपूर्ण अवसर पैदा हुए हैं। गलगोटिया विश्वविद्यालय, नोएडा (यूपी) और राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) दिल्ली ने एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर करके रणनीतिक साझेदारी की है। एनआईटी दिल्ली के परिसर में आयोजित एक समारोह में दोनों संस्थानों के प्रतिष्ठित अधिकारी मौजूद रहे।

एनआईटी दिल्ली के निदेशक प्रो. (डॉ.) अजय के शर्मा और गलगोटिया विश्वविद्यालय के प्रो वाइस चांसलर प्रो. (डॉ.) अवधेश कुमार ने एनआईटी दिल्ली के रजिस्ट्रार श्री रविंदर कुमार और गलगोटियास विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ. नितिन कुमार के साथ मिलकर कार्यवाही का नेतृत्व किया। प्रो. (डॉ.) अवधेश कुमार ने समझौता ज्ञापन के पारस्परिक लाभों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि एनआईटी दिल्ली और गलगोटिया के बीच साझेदारी एक गतिशील शैक्षणिक माहौल बनाने की दिशा में एक बडा कदम है। गलगोटिया विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार नितिन गौड, ईसीई के विभागाध्यक्ष प्रो. मनोज तलेजा, डीन (आर एंड सी) प्रो. ज्योतिष मल्होत्रा, डीन (ए) प्रो. गीता सिक्का, प्रो. सुमन मान, प्रो. केके अग्रवाल, सुश्री रीतू मेहता, विभागाध्यक्ष (ईई) डॉ. पंकज मुखीजा, टी एंड पी प्रमुख डॉ. ओब्बू चंद्र शेखर, गायेंद्र, डॉ. अजय कुमार और विभागाध्यक्ष (मैकेनिकल) डॉ. हरीश कुमार की उपस्थिति में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

यह समझौता ज्ञापन संयुक्त शोध परियोजनाओं, संकाय और छात्र विनिमय कार्यक्रमों और शैक्षणिक संसाधनों और बुनियादी ढांचे के आदान-प्रदान को शामिल करते हुए एक व्यापक सहयोग के लिए एक उचित और महत्वपूर्ण मंच तैयार करता करेगा। साझेदारी का उद्देश्य नवाचार, अनुसंधान और शैक्षणिक उत्कृष्टता को बढ़ावा देने के लिए दोनों संस्थानों की अनूठी शक्तियों का लाभ उठाना है। प्रोफेसर (डॉ.) अजय के शर्मा ने साझेदारी के लिए अपना उत्साह व्यक्त किया। हम एक साथ मिलकर शिक्षा और अनुसंधान में साझा लक्ष्यों को प्राप्त करने और नए मानक स्थापित करने की दिशा में काम करेंगे।” समारोह का समापन संभावित सहयोग और आपसी हित के क्षेत्रों पर चर्चा के साथ हुआ।
गलगोटियास विश्वविद्यालय के सीईओ डा० ध्रुव गलगोटियास ने इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए सभी को अपनी शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि हम गलगोटिया विश्वविद्यालय और राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली दोनों मिलकर के देश की युवा पीढ़ी के चहुँमुखी विकास के लिये सदैव प्रयत्नशील रहेंगे जिससे साझेदारी का उद्देश्य पूर्ण रूप से सफल रहे। यह समझौता नवाचार, अनुसंधान और शैक्षणिक उत्कृष्टता को बढ़ावा देने के लिए अपने उद्देश्य को अवश्य पूरा करेगा। उन्होंने आगे कहा कि मैं पूरे आत्मविश्वास के साथ कह सकता हूँ कि दोनों संस्थान मिलकर आगे आने वाली पीढ़ियों के उज्ज्वल भविष्य का निर्माण करने में अवश्य ही सफल होंगे।

अंत में दोनों संस्थानों ने इस साझेदारी की सफलता और अपने-अपने शैक्षणिक परिदृश्य पर प्रभाव सुनिश्चित करने के लिए अपने समर्पण और अपनी प्रतिबद्धता को दोहराया।

 

Related Articles

Back to top button