बुलन्दशहर

केक काटकर मनाया राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस

- अस्पताल सभागार में हुआ कार्यक्रम का आयोजन

पहासू : सोमवार को पहासू के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सभागार में राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस धूमधाम के साथ मनाया गया। चिकित्सकों ने एक दूसरे को केक खिलाकर खुशी जाहिर की। उसी दौरान अधीक्षक डा. मनोज कुमार ने अस्पताल में नवजात शिशु के लिए कपड़े सहित प्रसूति महिला के लिए पोषण की टोकरी दी।

पहासू के खुर्जा रोड़ स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सभागार में सोमवार दोपहर राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस पर आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ अस्पताल के अधीक्षक डॉ. मनोज कुमार, वरिष्ठ चिकित्सक डा. केडी राहुल ने संयुक्त रूप से चिकित्सकों के साथ केक काटकर किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डा. मनोज कुमार ने कहा कि इस समय चिकित्सा ही एक ऐसा व्यवसाय है, जिस पर लोग विश्वास करते हैं। इसे बनाए रखने की जिम्मेदारी सभी चिकित्सकों पर है। ‘चिकित्सा दिवस’ स्वयं चिकित्सकों के लिए एक महत्वपूर्ण दिन है क्योंकि यह उन्हें अपने चिकित्सकीय प्रशिक्षण को पुनर्जीवित करने का अवसर प्रदान करता है। सारे चिकित्सक जब अपने चिकित्सकीय जीवन की शुरुआत करते हैं तो उनके मन में नैतिकता और जरूरतमंदों की मदद का जज्बा होता है। इसके बाद भी कुछ लोग इस विचार से पथ भ्रमित होकर अनैतिकता की राह पर चल पड़ते हैं। ‘चिकित्सक दिवस’ के दिन डॉक्टरों को यह मौका मिलता है कि वे अपने अंतर्मन में झांके, अपनी सामाजिक जिम्मेदारियों को समझें और चिकित्सा को पैसा कमाने का पेशा न बनाकर, मानवीय सेवा का पेशा बनाएं तभी हमारा यह ‘चिकित्सा दिवस’ मनाना सही और सार्थक सिद्ध होगा। इस दौरान उन्होंने चिकित्सकों के साथ मिलकर अस्पताल में नवजात शिशु के लिए कपड़े व गर्भवती महिला के लिए फल की टोकरी दी।

कार्यक्रम के दौरान स्टाफ ने चिकित्सकों को पुष्प पर उपहार देकर सम्मानित किया। इस मौके पर डा. वीर प्रताप, डा. नवीन कुमार शर्मा, डा. अनिता द्विवेदी, चीफ फार्मासिस्ट डा. अनिल कुमार तिवारी, प्रवीण कुमार, स्टाफ नर्स सिमरन, बीना, अनिल कुमार, सर्वेंद्र शर्मा, मेघना आदि मौजूद रहे।

रिपोर्टर उपेंद्र शर्मा

Related Articles

Back to top button