बुलन्दशहर

अनुसूचित जाति आयोग से मांगा सरोज देवी के लिए न्याय

विक्की वाल्मीकि की असामायिक मौत का मामला, जिम्मेदार अफसरों पर हो अविलंब कठोर कार्रवाई

औरंगाबाद (बुलंदशहर ) अखिल भारतीय अनुसूचित जाति युवजन समाज के प्रदेश महामंत्री,व वाल्मीकि विकास संघ के राष्ट्रीय संगठन मंत्री संजय कुमार ने अनुसूचित जाति आयोग भारत सरकार के राष्ट्रीय अध्यक्ष को शिकायती पत्र भेजकर अवगत कराया है कि नगर पंचायत औरंगाबाद में अनुसूचित जाति के युवक विक्की वाल्मीकि पुत्र सरोज देवी को 17 जून 24को अधिशासी अधिकारी के आदेश पर ईद के त्योहार पर कुर्बानी के लिए काटे गए पशु अवशेषों के निस्तारण के काम पर उसकी अनिच्छा और उपवास रखे होने के बाबजूद लगाया गया था। भीषण गर्मी और अवशेषों की तीखी दुर्गंध से विक्की की तबीयत बिगड़ी लेकिन तबियत खराब होने के बाद भी उससे जबरन काम लिया जाता रहा और जब विक्की की हालत गंभीर हो गई और काम करना उसके लिए असंभव हो गया तो नगर पंचायत वाले उसका बिना कोई उपचार कराये उसके घर में छोड़ कर चलते बने। अगली सुबह विक्की मृत पाया गया क्योंकि वह घर पर अकेला था और उसकी मां सरोज देवी अपने इलाज के लिए दिल्ली गई हुई थी।

विक्की की मां सरोज देवी ने थाने पर तहरीर देकर मामला दर्ज कराया पुलिस ने गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया लेकिन इसके बावजूद कोई गिरफ्तारी नहीं हुई।

शिकायत कर्ता ने विक्की की मौत के लिए अधिशासी अधिकारी को पूरी तरह जिम्मेदार ठहराते हुए मामले में कठोर कार्रवाई करने की मांग की है और कहा है कि कर्मचारी मां की जगह उसके बेटे को जबरन काम पर लगाया गया और उसकी धार्मिक भावनाओं का भी ख्याल नहीं रखा गया।

शिकायत कर्ता ने आयोग से न्याय और कठोर कार्रवाई की मांग करते हुए कहा है कि आगे किसी अन्य के साथ ऐसा ना हो इसलिए दोषियों पर अविलंब कार्रवाई करने की आवश्यकता है।

रिपोर्टर राजेंद्र अग्रवाल

Related Articles

Back to top button