ग्रेटर नोएडा

गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय स्तर कार्यक्रम पर आयोजन की घोषणा

ग्रेटर नोएडा: गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी परिषद (NCTE) के सहयोग से दो दिवसीय राष्ट्रीय स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम की तारीखें 28 जून 2024 को एकीकृत शिक्षक शिक्षा कार्यक्रम (ITEP) और 29 जून 2024 को राष्ट्रीय शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय व्यवसायिक मानक (NPST) और राष्ट्रीय परामर्शदाता मिशन (NMM) हैं।

गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रवींद्र कुमार सिन्हा ने बताया कि इस कार्यक्रम में भारत सरकार के माननीय शिक्षा मंत्री की उपस्थिति की संभावना है, जिसमें शिक्षा मंत्रालय, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद, राष्ट्रीय शैक्षणिक योजना और प्रशिक्षण प्रशासन, और 64 ITEP संस्थानों के वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे। ये कार्यक्रम गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय के अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन केंद्र में आयोजित किए जाएंगे।

विश्वविद्यालय के इस कार्यक्रम के नोडल ऑफिसर डॉ. विनोद कुमार शनवाल ने बताया कि इस दो दिवसीय कार्यक्रम में नई शिक्षा नीति 2020 (NEP 2020) के निम्नलिखित तीन मुद्दों पर विचार किया जाएगा: 1. NEP 2020 की पैरा 15.5, जो 4 वर्षीय एकीकृत बीएड से संबंधित है। 2. NEP 2020 की पैरा 5.20 में वर्णित राष्ट्रीय पेशेवर मानकों का उद्देश्य है। 3. NEP 2020 की पैरा 15.11, जो एक विशिष्ट शिक्षकों के लिए एक बड़े पूल की स्थापना करने का लक्ष्य रखती है।

विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. विश्वास त्रिपाठी ने बताया कि इस कार्यक्रम में शिक्षा मंत्रालय, राज्य प्रोजेक्ट निदेशक, और अन्य स्थानीय और राष्ट्रीय निकायों के प्रतिनिधियों की उम्मीद है।

विश्वविद्यालय के डीन अकादमिक्स प्रो. एन. पी. मेल्कानिया ने बताया कि इस कार्यक्रम के सुचारू आयोजन के लिए विश्वविद्यालय ने विभिन्न समितियाँ गठित की हैं।

इस कार्यक्रम के आयोजन को अंतिम रूप देने से पहले, NCTE की सदस्य सचिव श्रीमती केसांग वाई. शेर्पा ने अपनी टीम के साथ विश्वविद्यालय का भ्रमण किया था और इस कार्यक्रम की तैयारियों को अंतिम रूप दिया।

गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय की यह महत्वपूर्ण कार्यक्रम नई शिक्षा नीति-2020 के अंतर्गत शिक्षा सुधारों के लिए एक महत्वपूर्ण मंच साबित होगी, जो शिक्षकों की शिक्षा और व्यवसायिक मानकों में उन्नति को बढ़ावा देने के लिए विश्वविद्यालय की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

Related Articles

Back to top button