दिल्ली एनसीआरप्रशासन

यीडा क्षेत्र में इंटरनेशनल फिल्म सिटी का आगाज: फिल्म निर्माण के लिए अधिकतम सब्सिडी मिले-बोनी कपूर

राजेश बैरागी( वरिष्ठ पत्रकार)
111 वर्ष के प्रौढ़ हो चुके भारतीय सिनेमा को विश्वस्तरीय सिनेमा के बराबर पहुंचने के लिए क्या आज सरकारी प्रोत्साहन और रियायतों की आवश्यकता है? यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यीडा) के सेक्टर 21 में एक हजार एकड़ भूमि पर प्रस्तावित फिल्म सिटी के प्रथम खंड के निर्माण के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने आये प्रसिद्ध फिल्म निर्माता बोनी कपूर ने विश्व की सर्वश्रेष्ठ फिल्म सिटी बनाने का दावा तो किया परंतु उनका जोर सरकार से अधिक से अधिक रियासत हासिल करने पर रहा।
यीडा क्षेत्र में बनने वाली विशाल फिल्म सिटी के निर्माण का आज आगाज हो गया।यीडा के सीईओ डॉ अरुणवीर सिंह और फिल्म सिटी निर्माता कंपनी बेव्यू भूटानी फिल्म सिटी प्राईवेट लिमिटेड के कंसेनशायर बोनी कपूर व आशीष भूटानी ने उस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए जिसके तहत यह फिल्म सिटी बनेगी। इसके लिए यीडा मुख्यालय पर एक शानदार कार्यक्रम का आयोजन किया गया।फिल्म सिटी के प्रथम खंड का निर्माण 230 एकड़ भूमि पर होगा।1510 करोड़ रुपए से बनने वाले इस खंड में फिल्म शूटिंग की सभी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। इसके साथ ही कलाकारों के रहने के लिए होटल, फिल्म म्यूजियम,फूड कोर्ट, सेट्स बनाने वाले कारीगरों सहित फिल्म शूटिंग के आवश्यक लोकेशन भी विकसित किए जाएंगे। रंगमंच और फिल्म निर्माण प्रशिक्षण केन्द्र भी बनेगा।यीडा सीईओ ने इस अवसर पर मीडिया को संबोधित करते हुए बताया कि राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यीडा को विश्व की बेहतरीन फिल्म सिटी बनाने का दायित्व सौंपा था। आज वह महत्वपूर्ण दिन आ गया है जब देश की ही नहीं बल्कि विश्व की अनेक फिल्म सिटी से अच्छी फिल्म सिटी बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण पड़ाव पार कर लिया गया है। फिल्म सिटी निर्माता बोनी कपूर ने मीडिया को बताया कि विश्व की सर्वश्रेष्ठ फिल्म सिटी बनाने के लिए वो कनाडा, अमेरिका, इटली आदि देशों की फिल्म सिटीज को खुद जाकर अध्ययन कर रहे हैं। अगले तीन चार महीने में आवश्यक आर एंड डी करने के बाद शीघ्र ही फिल्म सिटी का निर्माण शुरू कर दिया जाएगा। इस दौरान उन्होंने फिल्म निर्माण के लिए विभिन्न देशों में मिल रही सरकारी सहायता पर बहुत जोर दिया। उन्होंने बताया कि अलग-अलग देशों में फिल्म निर्माण के लिए कई स्तरों पर रियासत मिलती हैं। उनके द्वारा कही गई अधिकांश बातों का लब्बोलुआब यही था कि वो सरकार से अधिकतम रियायत हासिल करना चाहते हैं। गौरतलब है कि यह फिल्म सिटी पीपीपी मॉडल पर बनाई जाएगी। इसमें यीडा के द्वारा भूमि उपलब्ध कराई जाएगी जबकि विकासकर्ताओं द्वारा निर्माण व संचालन किया जाएगा। फिल्म सिटी से होने वाली आय में यीडा की 18 प्रतिशत हिस्सेदारी रहेगी,

Related Articles

Back to top button